सुक्खू के गृह जिला की सीट पर मुकाबला जबरदस्त होने वाला : प्रशानिक सेवा अधिकारी को मिल सकती है हमीरपुर से कांग्रेस की टिकट

by
एएम नाथ। हमीरपुर : प्रदेश मे विधानसभा उप चुनावों की अधिसूचना जारी होते ही कांग्रेस पार्टी  फिर से एकशन मोड मे आ गई है। जहाँ तीन निर्दलीय विधायकों का इस्तीफा मंजूर होने से भाजपा मे टिकट की दावेदारी को लेकर असमंजस बना हुआ है तो दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी किसी भी कीमत पर इन तीनों सीटों पर जीत हासिल करके पार्टी और प्रदेश सरकार ओर मजबूत करने की राह पर बढ़ चुकी है। यूँ तो पार्टी हाईकमान ने तीनों विधानसभा क्षेत्रों की कांग्रेस ब्लॉक कमेटियों को भंग करके जल्द ही नई कमेटियों को गठित करने के निर्देश जारी कर दिए है। कुछ भी हो इस बार उपचुनाव मे मुख्यमंत्री सुक्खविंदर सिंह सुक्खू के गृह जिला की सीट पर मुकाबला जबरदस्त होने वाला है। क्योंकि इस बार यहाँ से कांग्रेस पार्टी की टिकट पर मुख्यमंत्री सुक्खविंदर सिंह सुक्खू के करीबी व वर्तमान में हिमाचल प्रसाशनिक सेवा मे तैनात एक अधिकारी के चुनाव लड़ने की चर्चा भी जोरों पर हैं। पार्टी के पुराने व युवा पदाधिकारी भी इस प्रशानिक अधिकारी को चुनाव लडा़ने के पक्ष मे अपनी सहमति प्रकट कर चुके है। गौर तलब है कि इस प्रशासनिक अधिकारी का संबध भी हमीरपुर से ही है। वर्तमान मे ये अधिकारी हिमाचल प्रदेश के एक उपमंडल मे बतौर एसडीएम अपनी सेवाऐं दे रहा है। वहीं अगर अनुभव की बात करे तो वर्ष 2001 से ग्रामीण विकास विभाग मे नौकरी लगने के बाद उक्त अधिकारी एसईबीपीओ सहित विभिन्न 8 जिलों मे बीडीओ के रूप मे तथा जिला चम्बा व ऊना मे डीआरडीए में बतौर परियोजना अधिकारी सेवा दे चुका है पिछले वर्ष ही हिमाचल प्रशाशनिक सेवा मे इंडक्ट  हुआ है। इस दौरान इस अधिकारी का आम जनता की समस्याओं को समझने व उनके उचित निवारण व सरकारी योजनाओं को जन जन तक पहुंचाने का अच्छा अनुभव है। वहीं इस अधिकारी की खेलों विशेषकर क्रिकेट मे भी काफी रूची है पिछले लगभग 30 वर्षों से भी अधिक समय मे तीन बार राष्ट्र स्तरीय जूनियर क्रिकेट प्रतियोगिता मे प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर चुका है व वर्तमान मे गाँव मे एक अकैडमी भी चला रहा है जिसमे नए प्रतिभाशाली खिलाड़ी उभर कर आ रहे हैं। वहीं अगर बात करें तो उक्त प्रशानिक अधिकारी मुख्यमंत्री ठाकुर सुक्खविंदर सिंह की नीतियों से काफी प्रभावित हैं। दूसरी ओर मुख्यमंत्री सुक्खविंदर सिंह सुक्खू भी व्यक्तिगत रूप से इस अधिकारी से परिचित है। पूर्व मे कांग्रेस पार्टी से ही ताल्लुक रखने वाले उनके पिता भी हमीरपुर नगर परिषद मे पार्षद रह चुके है।
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

You may also like

article-image
हिमाचल प्रदेश

स्वच्छता में श्रेष्ठ कार्य करने वाली पंचायतें होंगी सम्मानितः जिला परिषद अध्यक्ष नीलम कुमारी

जिला परिषद अध्यक्ष ने स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा की ऊना: 28 जुलाई 2022- स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा के संबंध में डीआरडीए सभागार में आज एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता...
article-image
हिमाचल प्रदेश

मुख्यमंत्री राहत कोष से 40 लाभार्थियों को मिली 6.22 लाख की आर्थिक सहायता

ऊना – छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने आज रक्कड़ काॅलोनी स्थित विद्युत विभाग के विश्राम गृह में मुख्यमंत्री राहत कोष सेे 40 लाभार्थियों को 6.22 लाख की आर्थिक सहायता के...
हिमाचल प्रदेश

एनजीटी का पैनल करेगा स्वां नदी में अवैध खनन की शिकायत की जांच

ऊना – नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा गठित पांच सदस्यीय एक पैनल आज स्वां नदी में अवैध खनन की शिकायत की जांच करेगा। पैनल की अध्यक्षता पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज, जस्टिस जसबीर...
article-image
दिल्ली , पंजाब , राष्ट्रीय , हरियाणा , हिमाचल प्रदेश

सिद्धू मूसेवाला के छोटा भाई जन्म के बाद अब दिवंगत सिंगर द्वारा कमाई गई संपत्ति का वारिस : मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मौत के वक्त सिद्धू मूसेवाला की कुल संपत्ति करीब 114 करोड़ रुपये थी

चंडीगढ़ : पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के लगभग दो साल बाद उनके माता-पिता के घर एक बेटे का जन्म हुआ है। मूसेवाला अपने माता-पिता (58 वर्षीय मां चरण कौर और 60 वर्षीय...
Translate »
error: Content is protected !!