वसुंधरा राजे से पंगा ले डूबा : राजस्थान में भाजपा के नेता प्रतिपक्ष और उप नेता प्रतिपक्ष हारे

by

राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर नतीजे आ गए हैं। भाजपा स्पष्ट बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है। कई सीटों पर चौंकाने वाले परिणाम आए हैं। प्रदेश में भाजपा के नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ तारानगर और उप नेता प्रतिपक्ष सतीश पूनिया आमेर से चुनाव हार गए हैं। भाजपा के इन दोनों नेताओं की हार का अजीब संयोग बना है। प्रदेश में इन नेताओं की हार को लेकर कई तरह के मायने निकाले जा रहे हैं। सियासी गलियारों में चर्चा है कि दोनों नेताओं ने मुखर होकर वसुंधरा राजे का विरोध किया था। अब चर्चा है कि राठौड़ और पूनिया इसी वजह से विधानसभा चुनाव हार गए हैं।

राजेंद्र राठौड़ तारानगर और सतीश पूनिया आमेर से हारे चुनाव :नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ तारानगर से अपने निकटतम प्रतिद्वंदी नरेंद्र बुढ़ानिया से चुनाव हार गए हैं। आमेर में उपनेता प्रतिपक्ष और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया कांग्रेस प्रत्याशी प्रशांत शर्मा से चुनाव हार चुके हैं। दोनों नेता राजस्थान में मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार थे। पार्टी ने सतीश पूनिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाया था। इसके बाद सतीश पूनिया खुद को ओबीसी वर्ग का नेता बताते हुए मुख्यमंत्री पद की दावेदारी करने लग गए थे। राजस्थान में मुख्यमंत्री पद को लेकर अनेक दावेदार थे। लेकिन इन नेताओं का जनाधार नहीं था। राजेंद्र राठौड़ और सतीश पूनिया के बीच भी सीएम पद को लेकर प्रतिस्पर्धा थी। इसे लेकर दोनों नेताओं के बीच खींचतान चलती रहती थी।

जनता के बीच आधार नहीं बना पाए दोनों नेता : मुख्यमंत्री की प्रतिस्पर्धा के चलते राजेंद्र राठौड़ और सतीश पूनिया जनता के बीच अपना आधार नहीं बना पाए। इसके साथ ही इन्होंने वसुंधरा राजे के खिलाफ मुखर होकर पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के सामने उन्हें कमजोर करने की कोशिश की। जबकि वसुंधरा राजे जनाधार वाली नेता थी। राजनीति के जानकार कहते हैं कि वसुंधरा राजे के खिलाफ माहौल तैयार करने की वजह से जनता के बीच भी इन नेताओं को लेकर नाराजगी बढ़ गई थी। जानकार राठौड़ और पूनिया की हार को इससे भी जोड़कर देख रहे हैं।

Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

You may also like

article-image
हिमाचल प्रदेश

कोरोना महामारी से लड़ने के लिए जनसहयोग ही कारगर हथियार: राज्य वित्तायोग अध्यक्ष सतपाल सत्ती

गांव स्तर पर कोविड टेस्टिंग शिविर में बोले राज्य वित्तायोग अध्यक्ष ऊना – कोविड संक्रमित लोग कवारंटीन होने के भय से कोरोना के लक्ष्णों जैसे खांसी, बुखार जुखाम आदि को हलके में लेकर अस्पताल...
article-image
हिमाचल प्रदेश

नगरोटा सूरियां स्कूल के वार्षिक उत्सव में मेधावी बच्चों को किया पुरस्कृत : कृषि मंत्री ने नगरोटा सूरियां स्कूल में 39 लाख रुपए की लागत से निर्मित अतिरिक्त कमरे बच्चों को किए समर्पित साइंस पार्क की बच्चों को दी सौगात

स्कूल के लिए भूमि दान करने वाले स्वo रबलु राम गुलेरिया के परिजनों को किया सम्मानित सुभाषना भारती के पहाड़ी काव्य संग्रह “बण-बणदे रंग”का किया विमोचन नगरोटा सूरियां में सुनी जनसमस्याएं। नगरोटा सूरियां, 10...
article-image
पंजाब

14 अप्रैल को डा. अंबेदकर की जयंती पुर्व मनाया जाएगा : भाई केवल सिंह

गढ़शंकर: श्री गुरू रविदास ईताहासिक धार्मिक स्थल खुरालगढ़ साहिब में प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष भाई केवल सिंह की अध्यक्षता में मीटिंग हुई। जिसमें वैसाखी के अवसर पर समागम के आयोजन व भारत रत्न बाबा...
article-image
हिमाचल प्रदेश

पहले दिन जिला ऊना में 105 लाभार्थियों को दी कोविड वैक्सीन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया, ऊना में हुआ वेबकास्ट ऊना (16 जनवरी)- जिला ऊना में कोरोना महामारी के अंत के लिए टीकाकरण अभियान शुरू हो गया है। दिल्ली में प्रधानमंत्री...
Translate »
error: Content is protected !!