14 जून को नागरिक चिकित्सालय सुंदरनगर में होगी मॉक ड्रिल-एसडीएम सुंदरनगर

by
सुंदरनगर, 11 जून 2024 :  एसडीएम कार्यालय सुंदरनगर में आपदा प्रबंधन की तैयारियों को लेकर बैठक का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता एसडीएम सुंदरनगर गिरीश समरा ने की। एसडीएम ने बताया कि उपमंडल सुंदरनगर में आपदा से बचाव के लिए मॉक ड्रिल का आयोजन किया जाएगा। बैठक में अधिकारियों के साथ मॉक ड्रिल के विभिन्न पहलुओं की समीक्षा की तथा आपदा प्रबंधन योजना के सभी पहलुओं पर भी विस्तार से चर्चा की। मॉक ड्रिल में पुलिस, अग्निशमन सेवा, वन, स्वास्थ्य विभाग और स्थानीय प्रशासन शामिल रहेंगे। माॅक ड्रिल का मुख्य उद्देश्य बाढ़ की स्थिति में बचाव के लिए सभी विभागों के बीच समन्वय को सुनिश्चित करना और उनकी तत्परता को परखना है।
इस अभ्यास के दौरान आपातकालीन स्थितियों का पूर्वाभ्यास किया जाएगा ताकि वास्तविक आपदा की स्थिति में तेजी से और प्रभावी ढंग से प्रतिक्रिया दी जा सके।
उन्होंने बताया कि मॉक ड्रिल के लिए 12 जून को प्रातः 9:30 बजे टेबल टॉप एक्सरसाइज का आयोजन किया जाएगा। जिसमें आपदा की स्थिति में की गई तैयारियों का मूल्यांकन होगा। जबकि 14 जून को नागरिक चिकित्सालय सुंदरनगर में मॉक ड्रिल का आयोजन किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि सभी विभागों की अपनी-अपनी आपदा प्रबंधन योजनाएं हैं जिनकी मॉक ड्रिल के माध्यम से परख होगी। उन्होंने कहा कि यह मॉक ड्रिल वास्तविक आपात स्थिति की तरह ही की जाएगी। इससे आपदा प्रबंधन योजना के अलावा विभागों की अपनी आपदा प्रबंधन योजना की भी समीक्षा होगी| हमें अपनी कमियों का अंदाजा होगा व तैयारियों में अंतर का भी पता चलेगा तथा संसाधनों के उपयोग और संचार आदि की कमियों तथा तैयारियों का भी पता चलेगा| इससे सीख लेकर आपदा प्रबंधन योजना को और पुख्ता बनाने में मदद मिलेगी| मॉक ड्रिल के माध्यम से आपदा प्रबंधन की तैयारियों व क्षमताओं का आकलन एवं विश्लेषण किया जाएगा|
आपदा से निपटने के लिए तैयार रहे सभी विभाग-एसडीएम सुंदरनगर
बैठक में आपदा के समय प्रशासनिक तैयारियों और प्रबंधन को लेकर भी चर्चा की गई। एसडीएम ने कहा कि आने वाले मानसून मौसम को ध्यान में रखते हुए उपमंडल के सभी विभाग सतर्क रहें तथा समय रहते सभी प्रबंध पूरे कर लें।
उन्होंने कहा कि मानसून के मौसम में अत्याधिक वर्षा होने से नदी-नालों में जलस्तर बढ़ने, भूस्खलन और बादल फटने इत्यादि से जनजीवन प्रभावित होता है। ऐसी किसी भी आपदा से निपटने के लिए सभी विभाग आपसी समन्वय से त्वरित करवाई के लिए तैयार रहें। साथ ही सभी विभागों के अधिकारियों से अपने संसाधनों और मशीनरी को हर समय तैयार रखने के निर्देश दिए।
Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

You may also like

article-image
हिमाचल प्रदेश

वीरेन्द्र कंवर ने बंगाणा में सड़क सुरक्षा जागरुकता रैली को दिखाई हरी झंडी

सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा में सब बनें भागीदार: वीरेन्द्र कंवर ऊना, 16 फरवरी: ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि, मत्स्य व पशुपालन मंत्री वीरेन्द्र कंवर ने आज बंगाणा में सड़क सुरक्षा माह के तहत जागरुकता...
article-image
समाचार , हिमाचल प्रदेश

देवबंद से त्रिलोकपुर आई थी नमक की बोरी में पिंडी के रूप में माता बालासुंदरी : माता बालासुंदरी त्रिलोकपुर मेला 9 अप्रैल से 23 अप्रैल 2024

एएम नाथ।  नाहन :  महामाया बाला सुंदरी का भव्य मंदिर सिरमौर जिला मुख्यालय नाहन से करीब 22 किलोमीटर दूर त्रिलोकपुर नामक स्थल पर विराजमान है। त्रिलोकपुर का नाम तीन शक्ति मंदिरों से निकला है...
article-image
हिमाचल प्रदेश

तीन महीने से विभाग ने नहीं ली सुध: बंद पड़ा है सराहन उआहणा मैलोह रास्ता : जल शक्ति विभाग की नहर लीकेज से धंसा है डंगा

एएम नाथ। चम्बा (साहो) :   सराहन लचौड़ी उआहणा मैलोह पैदल रास्ता पिछले तीन महीने से बंद पड़ा है। इस रास्ते में जल शक्ति विभाग की नहर है। नहर के रिसाव से कुड्डी मोड़ पर...
article-image
दिल्ली , पंजाब , राष्ट्रीय , समाचार , हरियाणा , हिमाचल प्रदेश

तस्वीर वायरल: ब्रिटेन प्रधानमंत्री ऋषि सुनक की टाई ठीक करते हुए पत्नी अक्षता

नई दिल्ली : ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक और उनकी पत्नी अक्षता मूर्ति भारत की राजधानी दिल्ली में हो रहे जी-20 देशों के सम्मेलन को लेकर यहां मौजूद हैं। इस बीच राजनीति की दुनिया...
Translate »
error: Content is protected !!